Festivals Trending Now

Gandhi Jayanti Special

gandhi jayanti

हेल्लो दोस्तों, आज की इस पोस्ट में हम बात करने वाले है Gandhi Jayanti की यहाँ पर आपको Gandhi Jayanti से सम्बंधित सभी जानकारिया मिलेगी, तो इस पोस्ट को पूरा पढ़े.

Gandhi Jayanti Special

हमारे देश में महात्मा गाँधी के जन्म दिवस को Gandhi Jayanti के रूप में मनाया जाता है महात्मा गाँधी जी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को हुआ था जिसके चलते हम 2 october को Gandhi Jayanti मानते है.

गाँधी जी का जन्म पोरबंदर में हुआ था इनके पिता करमचंद और माता पुतलीबाई थी, महात्मा गाँधी को उनके भारत की स्वतंत्रता को लेकर किये संघर्षो की वजह से हम उन्हें बापू के नाम से भी जानते है.

इस दिन सभी सरकारी और अर्ध सरकारी कार्यालयों, विद्यालयों, डाकघरों में राष्ट्रीय अवकाश दिया जाता है, ये कुछ घंटो के लिये खोले जाते है और वह पर बापू के बारे में बताया जाता है और फिर सभी उनको श्रद्धांजलि देते है इसके बाद अवकाश हो जाता है.

महात्मा गाँधी का स्वतंत्रता में योगदान

महात्मा गाँधी एक साधारण व्यक्ति थे और इसी तरह के उनके विचार भी थे वो हमेशा सत्य और अहिंसा पर विश्वास करते थे महात्मा गाँधी 1893 से 1914 तक दक्षिण अफ्रीका में रहे और वहा पर भी उन्होंने आन्दोलन शुरू किया.

जब वो वह रहते थे उस समय वह पर काले और गोरे में बहुत भेदभाव था जिसका शिकार गाँधी जी भी होना पड़ा था कहा जाता है की एक बार ट्रेन में इनके पास फर्स्ट क्लास का टिकेट होते हुए भी इन्हें थर्ड क्लास में भेजा जा रहा था पर जब इन्होने बात नही मणि तो इन्हें ट्रेन से बहार फेंक दिया गया था.

इसके लिये जब उन्होंने कानूनी मदद लेनी चाही तब भी उन्हें अपमानित किया गया इसी तरह उन्हें कई तरह की कठिनाइयों का सामना करना पड़ा जिसके बाद उन्होंने उसके लिये आन्दोलन चलाया.

स्वदेश के लिये गाँधी जी का प्रेम

दक्षिण अफ्रीका के बाद गाँधी ने अपने देश के लिये अपना रुख किया क्योकि उन्होंने देखा था की कैसे किसानो से कर वसूल किया जाता है इसलिए उन्होंने स्वदेश आकर किसानो के एक करके आन्दोलन करने की सोची और इसीलिए 1918 में चंपारण आन्दोलन चलाया.

गाँधी जी ने किसानो और भारतीय नागरिको को स्वच्छता और स्वाभिमान से जीने का पाठ पढाया और एकजुट होकर अंग्रेजो के खिलाफ आवाज़ उठाई जिसके चलते गाँधी जी को जेल में डाल दिया गया और पुलिस से जनता को डराने के लिये कहा गया.

इसके बाद गाँधी जी ने भारत की स्वतंत्रता को लेकर कई सारे अभियान और आन्दोलन चलाये जिसमे शामिल है,

जलियावाला बाग हत्याकांड

13 अप्रैल 1919 को पंजाब अभी अमृतसर के जलियावाला बाग नाम के स्थान पर हो रही महासभा में अंग्रेजो ने महा नरसंहार किया यह बाग चारो तरफ से दीवारों से घिरा था सिर्फ एक ही निकलने का रास्ता था जिसका फायदा उठा कर अंग्रेजो बिना बताये गोलीबारी शुरू करदी.

यहाँ पर करीब 3 हज़ार लोगो ने अपनी जान गवाई थी कुछ लोग दबकर मरे थे तो कुछ लोग वही बने एक कुए में कूद गये थे ब्रिटिश सर्कार ने इस मामले को दबा  दिया था यह सबसे ज्यादा निंदनीय हत्याकांड था जिसकी निंदा आज स्वय ब्रिटिश लोग कर रहे है.

भारत छोडो आन्दोलन

द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान देश में भारत छोडो आन्दोलन शुरू किया गया था, 09 अगस्त 1942 को भारत छोडो आन्दोलन का ऐलान किया गया था. इसके बाद जनता जाग उठी थी नरम और गर्म पंथी अपने आन्दोलन चला रहे थे.

इस समय सभी नेता सक्रिय थे और नेता सुभाष चन्द्र बोस ने भी अपनी ज़द हिन्द फौज को लेकर दिल्ली चलो ऐलान कर दिया और इसका जनता पर बहुत प्रभाव पड़ रहा था इसी बीच गाँधी जी को गिरफ्तार कर लिया गया फिर भी आन्दोलन तेजी से बढ़ रहा था.

इसी तरह और भी बहुत से आन्दोलन गाँधी ने चलाये और और भारत को आज़ादी दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी.

तो दोस्तों ये था gandhi jayanti के बारे में विस्तार से क्यों गाँधी जी को महान कहा जाता है उन्होंने देश के लिये क्या क्या किया उसके मुख्य बिंदु हमने आपके साथ साझा किये अगर आपको gandhi jayanti के बारे में ये पोस्ट अच्छी लगी तो इसे अपने दोस्तों के साथ share जरुर करे.

A Little Introduction Of

Rajaneesh Maurya

रजनीश मौर्या blog4help के डिजाईन, डेवेलपमेंट और सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के विशेषज्ञ है, ये इस साईट के एडमिन भी है| इन्हें वेबसाइट ऑप्टिमाइज़ करना और आर्टिकल लिखना बहुत ही पसंद है|

Leave a Comment